महिला कंडोम से क्या हानियां हो सकती हैं Mahila kondom se kya haniyan ho sakti hai

गर्भधारण को रोकने में जनाना कंडोम भी बहुत प्रभावशाली है यदि इसका सही
ढ़ंग से और नियमित रूप से प्रयोग किया जाए तो इसकी प्रभविष्णुता 98 प्रतिशत
है अगर सही और नियमित न हो तो प्रभविष्णुता की दर घट जाती है। इसे उपयोग करना जितना लाभदायक है उतना ही हानिकारक भी हो सकता है.

यदि इसका उपयोग सही ढंग से ना किया जाएँ तो इसके उपयोग से निम्नलिखित हानियां सकती हैं –
  • क्योंकि बाहरी रिंग योनि से बाहर रहता है तो कुछ कुछ औरतों का ध्यान उसी में रहता है।
  • सम्भोग के समय आवाजें कर सकता है। अधिक चिकनाई से यह सम्स्या हल हो सकती है।
  • कुछ महिलाओं को इसे लगाना और हटाना बड़ा कठिन लगता है।
  • गोली जैसे अनवरोधक की अपेक्षा इसकी असफलता दर कुछ ऊंची है।
क्या
एक ही समय महिला और पुरूष कंडोम दोनो का उपयोग किया जा सकता है?
 
एक एक समय
में दोनो प्रकार के कंडोम का उपयोग नहीं करना चाहिए। साथ-साथ उपयोग करने से
रगड़ लगने पर कोई एक या दोनों ही फिसल सकते हैं या फट सकते हैं या बाहरी
रिंग को हिलाकर योनि में डाल सकते हैं। Read More Posts
सम्भोग के दौरान यदि कंडोम खिसक जाए या फट जाए तो क्या करना चाहिए?
यदि
सम्भोग के समय कंडोम फट जाए या लिंग योनि में चला जाए तो एकदम रूकें और
कंडोम को बाहर निकालें। नया कंडोम लगाएं और थैली के द्वार पर लिंग पर
अतिरिक्त चिकनाई लगायें।
कंडोंम को कैसे निकालें या फैकें?
कंडोम को निकालने के लिए बाहरी रिंग को हल्के से घुमायें और कंडोम को इस तरह बाहर निकालें कि वीर्य उसी में रहे। इसका दोबारा उपयोग नहीं करना चाहिए। कंडोम को टिशु या पैकेट में लपेट कर फैकें। उसे टॉयलट में मत डालें।

Read More Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *