loading...

लोकसभा चुनाव 2014 और नरेन्द्र मोदी – Loksabha chunav 2014 aur Narender Modi

एक
सांसद प्रत्याशी के रूप में उन्होंने देश की दो लोकसभा सीटों वाराणसी तथा
वडोदरा से चुनाव लड़ा और दोनों निर्वाचन क्षेत्रों से विजयी हुए। न्यूज़ एजेंसीज व पत्रिकाओं द्वारा किए गए तीन प्रमुख सर्वेक्षणों ने
नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री पद के लिए जनता की पहली पसंद बताया था।

पार्टी की ओर से पीएम प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद नरेन्द्र मोदी ने
पूरे भारत का भ्रमण किया। इस दौरान तीन लाख किलोमीटर की यात्रा कर पूरे देश
में 437 बड़ी चुनावी रैलियां, 3-डी सभाएं व चाय पर चर्चा आदि को मिलाकर
कुल 5827 कार्यक्रम किए। चुनाव अभियान की शुरुआत उन्होंने 26 मार्च 2014 को
मां वैष्णो देवी के आशीर्वाद के साथ जम्मू से की और समापन मंगल पाण्डे की
जन्मभूमि बलिया में किया। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी
ने 2014 के चुनावों में अभूतपूर्व सफलता भी प्राप्त की।
चुनाव में जहां राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन 336 सीटें जीतकर सबसे बड़े
संसदीय दल के रूप में उभरा वहीं अकेले भारतीय जनता पार्टी ने 282 सीटों पर
विजय प्राप्त की। कांग्रेस केवल 44 सीटों पर सिमट कर रह गई और उसके गठबंधन
को केवल 59 सीटों से ही संतोष करना पड़ा। नरेन्द्र मोदी स्वतन्त्र भारत में
जन्म लेने वाले ऐसे व्यक्ति हैं जो सन् 2001 से 2014 तक लगभग 13 साल
गुजरात के 14वें मुख्यमंत्री रहे और हिन्दुस्तान के 15वें प्रधानमंत्री
बने।
20 मई 2014 को संसद भवन में भारतीय जनता पार्टी द्वारा
आयोजित भाजपा संसदीय दल एवं सहयोगी दलों की एक संयुक्त बैठक में जब लोग
प्रवेश कर रहे थे तो नरेन्द्र मोदी ने प्रवेश करने से पूर्व संसद भवन को
ठीक वैसे ही जमीन पर झुककर प्रणाम किया जैसे किसी पवित्र मन्दिर में प्रणाम
करते हैं। संसद भवन के इतिहास में उन्होंने ऐसा करके समस्त सांसदों के लिए
उदाहरण पेश किया।
बैठक
में नरेन्द्र मोदी को सर्वसम्मति से न केवल भाजपा संसदीय दल अपितु एनडीए
का भी नेता चुना गया। राष्ट्रपति ने नरेन्द्र मोदी को भारत का 15वां
प्रधानमंत्री नियुक्त करते हुए इस आशय का विधिवत पत्र सौंपा। नरेन्द्र
मोदी ने सोमवार 26 मई 2014 को प्रधानमंत्री पद की शपथ ली।
सोशल मीडिया पर उनकी सक्रियता खासी लोकप्रिय है।
उनकी जीवनशैली अक्सर चर्चा में रहती है। कभी महंगे कोट, कुर्ते, घड़ी के
लिए तो कभी विदेशों में लोक संगीत का मजा लेने के लिए।
कभी अपने लिए
बने मंदिर के लिए तो कभी प्रशंसकों के साथ लिए ‘सेल्फी’ के लिए।
प्रधानमंत्री मोदी हर काम लीक से हटकर करते हैं इसीलिए जनता के बीच उनकी
छबि एक कुशल नेता की है। अपनी मां के प्रति विशेष
स्नेह और आदर के लिए भी वह जाने जाते हैं। उनका स्वच्छता अभियान देश भर
में पसंद किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *