कर भला तो हो भला Kar bhala to ho bhala

कर भला तो हो भला Kar bhala to ho bhala Good to be so good.
एक बार एक बच्चा मेले में रोता हुआ इधर – उधर घूम रहा था, लेकिन कोई उसकी तरफ ध्यान नहीं दे रहा था। एक औरत उस बच्चे के पास गई और प्यार से पूछा – बेटा क्यों रो रहें हो।

बच्चे ने उस से कहा – मेरे माता – पिता नहीं मिल रहे है वो यहीं कहीं मेले में है। उस औरत ने बच्चे से पूछा – बेटा तुम्हे भूख भी लगी होगी। बच्चे ने शर्म के मारे इंकार कर दिया। लेकिन उस औरत ने बच्चे को कुछ फल खिलाए और दूध पिलाया। भूख शांत होने पर और माँ समान औरत का साथ पाकर बच्चा बहुत खुश हुआ।
थोड़ी देर बाद उस बच्चे के माता – पिता उसे खोजते हुए वहां आए और उस औरत को धन्यवाद दिया और बच्चे को अपने साथ ले गए। कुछ सालो बाद वह औरत बहुत ज्यादा बीमार हो गई। उसे एक हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया। डॉक्टर ने तुरंत उसे भर्ती कर लिया तथा सभी आवश्यक टेस्ट कर लिये और कुछ दिनो में ही वह औरत काफी अच्छी हो गई। 
पहले तो वो औरत कुछ नहीं बोली लेकिन एक दिन उसने हिचकते हुए कहा कि डॉक्टर साहब आपने इतने दिन हो गए मेरा इलाज करते हुए ना तो कोई फीस ली ना दवा के पैसे लिए और ना ही कभी कहा की बिल कितना हुआ। डॉक्टर बोला- माता जी क्या आपको याद है की मेले में आपने मुझे खाना खिलाया था और दूध भी पिलाया था। तब आपने क्या मुझसे उस भोजन और दूध की कोई कीमत ली थी। तो अब मै आपसे क्या कोई कीमत ले सकता हूँ? 
ये सुनकर माँ की आँखों में ख़ुशी के आंसू आ गए।

loading...